Monday, May 13, 2013

रात ले तुमसे काजल उधार .

जो तुम रच दो
वही संसार ...

जो तुम गा दो
वही मल्हार ...

रात ले तुमसे
काजल उधार ..

दिन करे तुमसे
हंसी की मनुहार ...!!