Tuesday, October 30, 2012

'इक गंध घुलती है'

'इक गंध घुलती है'

'तेज धूप वाली
दुपहरी में' जब
कोई पगला बादल
बरस जाता है...

उसके ठीक बाद
जैसी गंध आती है ना?

ठीक वैसी ही...
गंध घुलती है जब
तुम चुपके से
मुझे 'नीहार' जाते हो... !!